रात 12 बजे चंद्रयान 3 ने रचा इतिहास

सरकारी नौकरी पाने के लिए हमारे व्हाट्स एप्प ग्रुप से जुड़े े Join Now

Chandrayaan3 : दोस्तों आपको जैसा पता ही है की पिछले महीने इसरो ने चंद्रयान 3 (Chandrayaan 3 ) को लांच किया था , इसका लक्ष्य चाँद के ऐसे इलाके में लैंड करना है जहा अँधेरा है . हमारा चंद्रयान 3 अगर चंद्रमा पर लेंडिंग करने में सफल रहा तो ये दुनिया के इतिहास में बहुत बड़ा कदम होगा . आज से चार साल पहले इसरो ने चंद्रयान 2 को लांच किया था लेकिन जब वो चंद्रमा से लेंड करने में सिर्फ 2 किलोमीटर दूर था क्रेश हो गया . उस समय हमारे वैज्ञानिक बहुत ज्यादा निराश हुए थे लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी , और उन्होंने चंद्रमा पर एक और मिशन लांच कर दिया .

 

चंद्रयान 3 ने किया चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश

 

आपको बता दे की पृथ्वी की कक्षा के चार चरण होते है और इसको पार करने के बाद ही कोई यान चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश करता है . हमारे चंद्रयान 3 ने पृथ्वी की कक्षा के चारो चरण सल्फ्तापुर्वक पूरा कर लिया है और अब ये चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश कर चूका है . यहाँ भी इसको कई चरण पुरे करने होगे अगर ये चंद्रमा के सभी चरण पुरे करने में सफल रहा तो फिर ये चंद्रमा पर लेंडिंग करने को जायेंगा . एक अनुमान के अनुसार अगर सब कुछ सही रहा तो चंद्रयान 3 तक़रीबन 23 अगस्त के करीब चंद्रमा पर लेंड कर जायेंगा .

चंद्रयान 3 लेंड करने के बाद रच देंगा इतिहास

 

दोस्तों सब दुनिया की निगाहे हमारे इस चंद्रयान 3 (Chandrayaan 3 ) पर है अगर सब कुछ सही रहा तो चंद्रमा पर लेंड करने वाला चोथा देश बन जायेंगा . लेकिन जिस जगह हमारा चंद्रयान 3 लेंड करेंगा वहा लेंड करने वाला पहला देश बन जायेंगा , पहले की चंद्रयान मिशन में कुछ खामिया थी . लेकिन अबकी बार इसरो बहुत फुक फुक कर कदम रख रहा है , अबकी बार लेंडिंग कमांड मैन्युअल ना हो कर आटोमेटिक होगी . इसके पहिये भी पहले से बहुत ज्यदा मजबूत बनायें गए है , इसके साथ साथ इसमें एक्स्ट्रा सोलर पैनल भी लगाये गए है यानी की अबकी बार इसके असफल होने के बहुत ही कम चांस है .

Leave a Comment