अगर आपने भी चाउमीन बनते हुए देख ली तो शायद कभी न खाए

सरकारी नौकरी पाने के लिए हमारे व्हाट्स एप्प ग्रुप से जुड़े े Join Now

जंक फूड काफी ज्यादा स्वादिष्ट होते हैं। यही कारण है कि, आज के समय में लोग जंक फूड का सेवन बड़े पैमाने पर कर रहे हैं। जंक फूड अर्थात ऐसे आइटम, जिसमें न्यूट्रिशन नहीं होता है परंतु टेस्ट जबरदस्त होता है। चाऊमीन भी एक फेमस जंक फूड में शामिल है।

चाऊमीन

चाऊमीन मैदे के द्वारा बनाया जाता है और आटे के द्वारा भी बनाया जाता है। अब तो चाऊमीन में पोषण मिलाने के लिए कई प्रकार के हेल्दी आटे से भी नूडल्स को तैयार किया जाता है, परंतु हमारे देश में जहां मिलावट न हो वहां टेस्ट आखिर कैसे आ सकता है।

चाऊमीन

भारत में बड़ी-बड़ी कंपनियों के द्वारा और छोटी-छोटी कंपनियों के द्वारा नूडल्स तैयार किए जाते हैं और फिर इनकी पैकिंग करके इन्हें बिक्री के लिए मार्केट में अवेलेबल करवाया जाता है। नूडल्स बनाने के बिजनेस में काफी अच्छा फायदा है परंतु कुछ लोग ज्यादा फायदा कमाने के लिए दूसरे लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करते हैं। सोशल मीडिया पर चाऊमीन बनाने का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें आप देख सकते हैं कि, आखिर कैसे फैक्ट्री में चाऊमीन बनाई जाती है।

चाऊमीन

बिना ग्लव्स के बने चाउमीन

एक यूजर के द्वारा इंस्टाग्राम पर चाऊमीन फैक्ट्री का वीडियो पोस्ट किया गया है, जिसमें देखा जा रहा है कि, जो वर्कर चाऊमीन बना रहे हैं उन्होंने हाथ में कोई भी दस्ताना नहीं पहना हुआ है। इसके अलावा कुछ कर्मी ने तो कपड़े भी नहीं पहने हुए हैं। अगर कपड़े पहनते तो पसीना कपड़ों में अब्जॉर्ब हो जाता है परंतु कपड़े ना पहनने की अवस्था में सारा पसीना नूडल्स से मिक्स हो जाता है। इसके अलावा वीडियो में देखा जा रहा है कि नूडल्स को पानी से निकालकर बिना दस्ताने की ही उसे सुखाया भी जा रहा है और कुछ महिलाओं को इसे पैक करने के लिए दिया जा रहा है।

 

आए ऐसे कमेंट्स

लाखों लोगों के द्वारा सोशल मीडिया पर चाऊमीन वाले इस वीडियो को देख लिया गया है और अभी भी कई लोग वीडियो को देख रहे हैं। वहीं कई देशी और विदेशी लोगों ने इस पर कमेंट भी किया हुआ है। विदेशी लोगों ने लिखा हुआ है कि यही कारण है कि वह मेड इन इंडिया वाले जो फूड आइटम होते हैं उसे खाना पसंद नहीं करते हैं। एक भारतीय यूज़र ने लिखा है कि, यहीं से असली टेस्ट आता है। लोगों के द्वारा मजदूरों की मेहनत की तारीफ तो करी जा रही है, परंतु मजदूरों को साफ सफाई रखने की सलाह भी दी जा रही है। कई लोगों ने तो कहा है कि वह अब नूडल्स का सेवन नहीं करेंगे।