इस प्राचीन हनुमान मंदिर में जिसने भी कुछ माँगा सब मिला , जानिये कहा है ये और कब जा सकते

सरकारी नौकरी पाने के लिए हमारे व्हाट्स एप्प ग्रुप से जुड़े े Join Now

दोस्तों भारत के लोग बहुत ही ज्यादा धार्मिक होते है ,हमारे यहाँ बहुत सारे देवी देवता है सबकी अलग अलग महिमा है . लेकिन एक देवता ऐसे है जिसमे कलयुग में दुखियो के दूर करने का वरदान मिला है और उनका नाम है बजरंग बलि हनुमान . आपको पता है हनुमान जी एक नाम है दुखभंजन क्योकि वो अपने भगतो के सब दुःख हर लेते है . हनुमान जी के दरबार में जा कर जो भी कोई उनसे कुछ मांगता है वो कभी भी खाली हाथ नहीं लोटता है . लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे की हनुमान जी का एक मंदिर ऐसा भी है जहा अगर कोई भगत अर्जी लगाता है उसकी झोली खुशियों से भर जाती है . ये मंदिर है मध्य प्रदेश के बेतुल जिले के टिकरी में दक्षिण मुखी हनुमान .

 

200 साल पुराना है हनुमान जी का ये मंदिर

 

आपको बता दे की मध्य प्रदेश का ये मंदिर तक़रीबन 200 साल पुराना है , और जिसके भी कुछ मागना होता है वो पीपल के पत्ते या फिर भोजपत्र पर लिख कर मांग लेता है . ऐसा लिख कर अर्जी लगाने वाला हनुमान जी के चरणों में रख देता है और इससे उनकी हर मुराद पूरी हो जाती है . यहाँ पर एक दिलचस्प बात ये भी है की जब हनुमान जी के मंदिर के कपाट खुलते है तो सामने शनी देव का मंदिर है . कपाट खुलते ही अगर कोई पहला दर्शन हनुमान जी का करता है तो वो है शनि देव जी .

bajrangbali

जमीदार द्वारा बनाया गया था ये मंदिर

 

अब आप ये सोच रहे होगे की ये मंदिर किसके द्वारा बनाया गया है तो आपको बता दे की ये मंदिर वहा के एक श्र्दावान जमीदार के द्वारा 200 साल पहले बनाया गया था . यहाँ पर एक दिलचस्प बात ये भी है की मंदिर के बिलकुल सामने एक शमी का पेड़ है , और ये कहा जाता है की शमी के पेड़ पर शनि देव का वास माना जाता है . और मंदिर खुलने पर सबसे पहले दर्शन का सोभाग्य शनी देव को मिलता है .

Leave a Comment